MAHILA SHAKTI: लड़कियां बोझ नहीं बल्कि देश का भविष्य हैं, नारी चौपाल का आयोजन

AMROHA NEWS: जिला प्रोबेशन अधिकारी अमरोहा ने जानकारी देते हुए कहा कि सखी वन स्टॉप सेन्टर एवं महिला शक्ति केन्द्र के कार्मिकों द्वारा जोया-ब्लॉक में ग्राम पंचायत रामपुर घना में नारी चौपाल का आयोजन किया गया।इस कार्यक्रम के दौरान ममता दुबे सेन्टर मैनेजर ने कहा कि हमें केवल समाज में नहीं बल्कि परिवार के भीतर भी महिलाओं और पुरूष के बीच भेदभाव को रोकना होगा। तभी सही मायने में देश का विकास हो सकता है। हर महिला को अपने ऊपर हो रहे सभी अत्याचारों का विरोध करना होगा।

आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया

उनके द्वारा यह भी कहा गया कि बेटी बचाओं बेटी पढाओं का उद्देश्य केवल बेटियों को बचाना और पढाना ही नहीं बल्कि सदियों से चली आ रही धार्मिक प्रथाओं एवं गलत मानसिक विचारधारा में परिवर्तन भी लाना है। कन्या भ्रूण हत्या के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने यह भी कहा की लड़कियां बोझ नहीं बल्कि देश का भविष्य है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए भी प्रेरित किया। देश का नाम रोशन करने वाली कल्पना चावला किरण बेदी और सुनीता विलियम्स का उदाहरण देते हुए महिलाओं को अपनी बच्चियों को आगे बढ़ाने की प्रेरणा देने के लिए प्रेरित किया गया।

सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में दी जानकारी

इसके अतिरिक्त भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही सभी योजनाओं बेटी बचाओं एवं बेटी पढाओं, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना,

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, वन स्टॉप सेन्टर द्वारा दी जाने वाली सभी सुविधाओं, महिला कल्याण विभाग की समस्त योजनाओं

एवं महिला हेल्पलाइन के बारे में भी जानकारी दी गई। इस नारी चौपाल के दौरान ममता दुबे,

सेन्टर मैनेजर, ग्राम प्रधान एवं ममता चौधरी आदि मौजूद थे।

उनके द्वारा यह भी कहा गया कि बेटी बचाओं बेटी पढाओं का उद्देश्य केवल बेटियों को बचाना

और पढाना ही नहीं बल्कि सदियों से चली आ रही धार्मिक प्रथाओं एवं गलत मानसिक विचारधारा में परिवर्तन भी लाना है।

कन्या भ्रूण हत्या के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई।

उन्होंने यह भी कहा की बच्चियां बोझ नहीं बल्कि देश का भविष्य है।

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए भी प्रेरित किया।

देश का नाम रोशन करने वाली कल्पना चावला किरण बेदी और सुनीता विलियम्स का उदाहरण देते हुए

महिलाओं को अपनी बच्चियों को आगे बढ़ाने की प्रेरणा देने के लिए प्रेरित किया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *