4th CRICKET WORLD CUP: चौथा वर्ल्ड कप आस्ट्रेलिया ने जीता था, ऐसा रहा था भारत का प्रदर्शन

4th CRICKET WORLD CUP: 1987 क्रिकेट विश्व कप चौथा क्रिकेट विश्व कप था। यह भारत और पाकिस्तान में 8 अक्टूबर से 8 नवंबर 1987 तक आयोजित किया गया था, इस वर्ल्ड कप में पहली बार ओवरों की संख्या को घटाकर 60 के स्थान पर 50 कर दिया गया था,ऑस्ट्रेलिया ने अपने चिर-प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड को सात रन से हराकर कोलकाता के ईडन गार्डन स्टेडियम में आज तक के सबसे करीबी मुकाबले में इस विश्व कप का फाइनल जीता था। दोनों मेजबान राष्ट्र, भारत और पाकिस्तान सेमीफाइनल तक ही पहुँच पाए थे। वेस्ट इंडीज उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया और ग्रुप स्टेज से आगे नहीं बढ़ सका।

इस बार भी टूर्नामेंट में आठ टीमों ने ही भाग लिया जिनमें ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैण्ड, भारत, न्यूज़ीलैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका, वेस्ट इंडीज़ तथा ज़िम्बाब्वे शामिल थी|

पहला सेमीफाइनल पाकिस्तान और आस्ट्रेलिया के बीच हुआ

पहले सेमीफाइनल में आस्ट्रेलिया व् पकिस्तान की टीमें आमने सामने थी, ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और बल्लेबाजी को चुना। ऑस्ट्रेलिया की शरुआत अच्छी रही, उसने 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 267 रन बनाये, इमरान खान ने 5 ओवर में 17 रन पर 3 विकेट लिए, जबाब में खेलने उत्तरी पाकिस्तान की शुरुआत खराब रही, उसके 38 रन पर ही 3 विकेट गिर गए, पकिस्तान की पूरी टीम 49 ओवर में 249 रन ही बना सकी, इस मैच की खास बात यह थी कि आस्ट्रेलिया के युवा बल्लेबाज स्टीव वॉ ने सलीम जाफर द्वारा फेंके गए 50 वें ओवर में 18 रन बनाए और विडंबना देखिए कि पाकिस्तान 18 रन से मैच हार गया।

दूसरा सेमीफाइनल भारत और इंग्लेंड के बीच खेला गया

टूर्नामेंट का दूसरा सेमीफाइनल भारत और इंग्लेंड के बीच खेला गया, भारत ने टॉस जीता और फील्डिंग करने फैसला किया। इंग्लैंड की टीम ने 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 254 रन बनाये। 255 रन का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही, उसने 73 रन पर ही 3 विकेट गँवा दिए। केवल मोहम्मद अजहरुद्दीन ने अपनी संघर्ष पूर्ण पारी में 74 गेंदों में 64 रन बनाये, भारत का स्कोर 5 विकेट पर 204 रन था, उसे अंतिम 10 ओवरों में 50 रनों की आवश्यकता थी, ऐसा लग रहा था कि यह बहुत करीबी मैच होगा। लेकिन भारत की टीम 45.3 ओवर में 219 रन पर ऑल आउट हो गई, इंग्लैंड ने यह मैच 35 रन से जीत कर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया, इंग्लैंड की टीम ने चार साल पहले 1983 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत से मिली हार का बदला भी ले लिया।

कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला गया वर्ल्ड कप का फ़ाइनल

8 नवंबर 1987 को कोलकाता के ईडन गार्डन में इस वर्ल्ड कप का फ़ाइनल मैच आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था, आस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और बल्लेबाजी करने का फैसला किया। टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड बून ने 125 गेंदों में 75 रन बनाये, वह ऑस्ट्रेलिया के लिए शीर्ष स्कोरर रहे, ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर में 5 विकेट के नुक्सान पर 253 रन बनाये। ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पारी के अंतिम छह ओवरों में 65 रन बनाए थे।

ऑस्ट्रेलिया ने चौथा वर्ल्ड कप अपने नाम कर लिया

जवाब में बल्लेबाजी करने उत्तरी इंग्लैंड की शुरुआत ख़राब रही,

सलामी बल्लेबाज टिम रॉबिन्सन पहली ही गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए।

बिल आथे ने 103 गेंदों में 58 रन बनाए, कप्तान माइक गैटिंग ने 45 गेंदों में 41 रन बनाये

उन्होंने 3 चौके और 1 छक्का लगाया, कप्तान और आथे के बीच 13 ओवरों में 69 रनों की साझेदारी हुई।

एलन लैम्ब ने भी 55 गेंदों में 45 रन की एक शानदार पारी खेली,

इंग्लैंड को अंतिम ओवर में 17 रन बनाने थे लेकिन वह इसमें कामयाब नहीं हो सके,

इंग्लैंड की टीम 50 ओवर में 8 विकेट पर 246 रन ही बना सकी,

इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच 7 रन से जीत लिया और चौथा वर्ल्ड कप अपने नाम कर लिया|

ऐसा रहा भारतीय टीम का प्रदर्शन

बात करते हैं भारतीय टीम के प्रदर्शन की भारत ने इस वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन किया था

उसने अपने ग्रुप स्टेज के 6 में से 5 मैच जीतकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था,

हालाँकि सेमीफाइनल में टीम को इंग्लैंड की टीम से हारकर वर्ल्ड कप से बहार होना पड़ा था|

T-20 IND Vs WEST: भारत ने वेस्टइंडीज़ को पहले टी-20 में 68 रन से हराया

Leave a Comment

Your email address will not be published.