Credit Card पर बोनस प्‍वाइंट का झांसा देकर करते थे ठगी, अब चढ़े साइबर पुल‍िस के हत्‍थे

नई दिल्ली. साइबर ठगी (Cyber Crime) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. साइबर अपराधी लोगों को अपनी मीठी-मीठी बातों और लालच देकर फंसा कर उनसे ठगी कर रहे हैं. कहीं क्रेड‍िट कार्ड (Credit Card) पर बोनस प्‍वाइंट देने तो कहीं सस्‍ता लोन या इन्‍वेस्‍टमेंट के नाम पर खूब ठगी की जा रही हैं. ताजा मामला नॉर्थ द‍िल्‍ली के साइबर थाना पुल‍िस के अंतर्गत आया है.

नॉर्थ द‍िल्‍ली के साइबर थाना पुलिस ने क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पर बोनस प्वाइंट देने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए आरोपियों में दीपक कुमार और रत्नेश है. दोनों आरोपी ग्रेजुएट हैं. पुलिस ने आरोपियों के पास से सात मोबाइल फोन, 17 सिमकार्ड, दो लैपटॉप, तीन आधार कार्ड, सात बैंक अकाउंट, 18 क्रेडिट कार्ड व अन्य सामान बरामद किया है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में गमछे के लिए युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या, फिर पुलिस ने ऐसे सुलझाई मर्डर मिस्ट्री

नॉर्थ जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने बताया कि एसआई रोहित सारसवत व अन्यों की टीम ने टेक्नीकल सर्विलांस से पड़ताल शुरू की. पीड़‍ित के कार्ड से जिन खातों में रुपए ट्रांसफर हुए उनका पता किया गया. इसके अलावा आरोपियों की सीडीआर डिटेल्स से पुलिस को पता चला कि आरोपी नजफगढ़ इलाके में कहीं मौजूद हैं. कार्ड से खरीदारी करने के बाद जिन पतों पर सामान डिलीवर हुआ था, उसका भी पता किया गया.

इस दौरान टीम को पता चला कि आरोपी देर रात सोनीपत के मुरथल में परांठे खाने के लिए जाएंगे. वहां से उन्होंने अपने एक जानकार को कैब भेजने के लिए कहा. एसआई रोहित सारसवत ने फौरन एसआई गुमन सिंह को कैब ड्राइवर बनाकर मुरथल भेजा. देर रात दो बजे आरोपी गुमन की कैब में सवार हुए. गुमन उनको दिल्ली ले आया. यहां पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. इनके पास से वारदात में इस्तेमाल मोबाइल, लैपटॉप और बैंक खातों का पता चला. उनको भी बरामद कर लिया.

पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि दोनों पिछले करीब एक साल से ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं. शुरुआती जांच के बाद पुलिस को पता चला है कि आरोपी पिछले करीब एक साल में सैकड़ों लोगों को इसी तरह चूना लगा चुके हैं. दोनों बेहद शातिर तरीके से पीड़‍ितों के कार्ड की जानकारी जुटाकर उसमें सेंध लगा लिया करते थे. पकड़े गए दोनों आरोपी ग्रेजुएट हैं.

डीसीपी कलसी के मुताब‍िक गत तीन जनवरी 2022 को गृह मंत्रालय के साइबर क्राइम पोर्टल से उनकी टीम को ठगी की एक शिकायत मिली थी. सिविल लाइंस, दिल्ली निवासी शिकायतकर्ता हेतराम ने बताया कि उनका क्रेडिट कार्ड उनकी जेब में था. इसके बावजूद कुछ लोगों ने तीन अलग-अलग ट्रांजेक्शन में उनके कार्ड से 44 हजार रुपए निकाल लिए. उनके पास न तो कोई ओटीपी आया और न ही उन्होंने कार्ड की जानकारी किसी को दी. इस पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलि‍स ने आरोप‍ियों को पकड़ने के ल‍िए टीम गठित की.

Tags: Crime News, Delhi Crime, Delhi news, Delhi police

Leave a Comment

Your email address will not be published.