नेटवर्क18 की Truecaller के साथ बड़ी पहल, महिला उत्पीड़न के खिलाफ #ItsNotOK Campaign की शुरुआत

नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा मीडिया समूह नेटवर्क 18 (Network18) ने मोबाइल ऐप ट्रूकॉलर (Truecaller) के साथ मिलकर महिला उत्पीड़न को रोकने के लिए बड़े अभियान का आगाज किया है. इसके तहत #ItsNotOK Campaign की शुरुआत हुई है. इसमें महिलाओं को इस बात के लिए जागरूक किया जाएगा कि छेड़छाड़ की घटना में उनके लिए कॉल करना या चुप नहीं रहना क्यों महत्वपूर्ण है. साथ ही इस पहल के तहत समाज में महिलाओं के लिए किस तरह एक सुरक्षित डिजिटल वातावरण मुहैया कराया जाए, इस बात को लेकर संवाद को प्रोत्साहन दिया जाएगा.

#ItsNotOK अभियान को विश्व महिला दिवस के अवसर पर आज शुरुआत हो रही है. इस अभियान के तहत समाज में सभी हितधारकों को एक मंच पर लाया जाएगा और महिलाओं के जीवन में बदलाव के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा. साथ ही इस बात के लिए महिलाओं में जागरूकता लाई जाएगी कि वे उत्पीड़न के खिलाफ चुप नहीं रहें बल्कि आवाज उठाएं.

10 में से 8 महिलाएं असहज मैसेज का सामना करती हैं
ट्रूकॉलर ने हाल ही में महिलाओं के यौन उत्पीड़न को लेकर एक सर्वे किया है जिसमें चौंकाने वाली बात सामने आई है. सर्वे में पाया गया कि भारत में हर 3 में से एक महिला को सेक्शुअली असहज करने वाले फोन कॉल का सामना करना पड़ता है जबकि 10 में 8 महिलाओं को उत्पीड़न या कष्ट पहुंचाने वाले मैसेज का सामना करना पड़ता है. इससे भी बड़ी दुख की बात यह है कि इन महिलाओं में से कुछ ही इस तरह के कॉल या मैसेज वाले नंबर को ब्लॉक कर पाती हैं. ऐसे मामलों में बहुत कम ऐसी महिलाएं होती हैं जो पुलिस में शिकायत दर्ज कराने पहुंचती हैं. ज्यादातर महिलाएं इस तरह की परेशानियों को झेलते हुए खामोश रह जाती हैं.

सामूहिक जिम्मेदारी पर जोर
#ItsNotOK अभियान का मानना है कि देश में महिला उत्पीड़न को रोकने की नीति निर्माताओं, सामाजिक प्रणालियों और मीडिया प्लेटफार्मों की सामूहिक जिम्मेदारी है. इस अभियान का मुख्य फोकस इस समाधान को तलाशने पर होगा कि यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए किस तरह महिलाएं अपनी व्यक्तिगत क्षमता से क्या कर सकती हैं और सामूहिक जिम्मेदारी के तहत हमारा समाज इसे रोकने के लिए क्या कर सकता है.

इस अभियान के तहत सभी हितधारकों जैसे कि राज्य पुलिस, गैर सरकारी संगठनों, परामर्शदाताओं, कानूनी विशेषज्ञों और सरकारी प्रतिनिधियों को एक मंच पर लाया जाएगा. इसके साथ ही हम सब मिलकर इस बात पर चर्चा करेंगे कि हम एक समाज के रूप में किस तरह एक सुरक्षित वातावरण तैयार करें, जिसमें लोग मिलजुल कर काम कर सकें और महिलाएं इसमें खुद को सशक्त महसूस कर सकें.

इस अभियान के मुख्य सत्र को महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री डॉ. मुंजपारा महेंद्रभाई  (Dr Munjpara Mahendrabhai Kalubhai) संबोधित करेंगी. दूसरी ओर, राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की अध्यक्ष रेखा शर्मा और Truecaller की सह-संस्थापक नामी जैरिंघालम (Nami Zarringhalam) Facebook और Twitter पर Network18 के स्ट्रीमथॉन का हिस्सा लेंगी. इस दौरान वे इस बात पर अपने विचार साझा करेंगी कि किस तरह महिला उत्पीड़न को रोका जा सकता है.

Tags: Network18

Leave a Comment

Your email address will not be published.