Russia’s Attack Continues On Many Cities Of Ukraine, Targeted The TV Tower Near The Indian Embassy, ​​destroyed Kharkiv’s City Square

Russia- Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच बीते 7 दिनों से युद्ध चल रहा है. 24 फरवरी से शुरू हुए इस जंग का आज सातवां दिन है. इन सात दिनों में यूक्रेन पर रूस ने रुक-रुक कर कई मिसाइले छोड़ दी है. इन हमलों से यूक्रेन लगभग तबाह हो चुका है लेकिन फिर भी ना तो रूस और ना ही यूक्रेन झुकने को तैयार है. हालांकि कल बेलारूस में दोनों देशों की बातचीत हुई लेकिन इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकल पाया. रूसी सेना फिलहाल यूक्रेन के कई जगहों पर धमाके कर चुकी है. 

यूक्रेन की राजधानी कीव पर हमला होते ही देश के कई शहरों में अलर्ट जारी कर दिया गया. शहरों में सायरन बजने लगे, वहां रहने वाली जनता खुद को और परिवार को बचाने के लिए बंकरों में छुपने पर मजबूर हो गई. कई लोगों ने धमाकों से खुद को बचाने के लिए रेलवे स्टेशन का शरण लिया. 

यूक्रेन लगभग तबाह हो चुका है. सात दिनों से हो रहे मिसाइल हमलों में हजारों लोगों की जान गई तो वहीं कई घायल भी हुए हैं. दूसरी तरफ यूक्रेन में पड़ रही ठंड परेशानी को और बढ़ा रहा है. दरअसल यूक्रेन में फिलहाल तापमान शून्य से 3 डिग्री नीचे है. यूक्रेन में बन रही स्थिति को देखते हुए ब़ड़ी संख्या में लोगों का पलायन हो रहा है. पांच लाख से ज्यादा लोग यूरोपीय संघ के देशों या फिर किसी और देश में शरण ले चुके हैं. 

इस बीच यूरोपीय संघ (European Union) ने यूक्रेनियन (Ukrainians) को 3 साल तक रहने का अधिकार देने की योजना बनाई है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक यूरोपीय संघ युद्ध से बने हालात के बाद वहां से भागे यूक्रेनियाई लोगों को 27 देशों के ब्लॉक में तीन साल तक रहने और काम करने का अधिकार देने की तैयारी कर रहा है. वरिष्ठ यूरोपीय अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि यूरोपीय संघ यूक्रेन से आने वाले लोगों की मदद करेगा.

टीवी टावर को बनाया निशाना 

मिली जानकारी के अनुसार युद्ध के दौरान कल यानी मंगलवार को रूसी सेना ने राजधानी कीव में मुख्य टीवी टावर को निशाना बनाया है. इस हमले में पांच लोगों की मौत हो गई और कई टीवी चैनलों का प्रसारण प्रभावित हुआ है. यूक्रेन के गृहमंत्री ने इसकी जानकारी दी है. विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा, ”रूसी सेना ने बेबनियार में मेमोरियल कॉम्पलेक्स के नजदीक टीवी टावर पर हमले किए. रूसी अपराधानी अपनी बर्बरता से बाज नहीं आ रहे हैं. रूस=बर्बर”. टीवी टावर उस ओब्राहएच मेट्रो स्टेशन से काफी करीब है जहां सैकड़ों लोग सबवे में पनाह लिए मौजूद हैं.

 

कीव में टीवी टावर पर जिस जगह हमला हुआ वहां से महज डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर भारत का दूतावास है. हमले के बाद दूतावास को खाली कर दिया गया है. यही नहीं सभी भारतीय भी अब कीव छोड़कर जा चुके हैं क्यों कि रूसी सेना का 65 किलोमीटर लंबा काफिला बेहद तेजी से राजधानी की तरफ बढ़ा रहा है. 

खारकीव के सिटी स्कावायर किया तबाह 

इससे पहले इसी तरह का एक भीषण धमाका खारकीव की प्रांतीय सरकार के मुख्यालय में हुआ जिसमें 10 लोग मारे गए. ये धमाका इतना जोरदार था कि बिल्डिंग और उसके आसपास मौजूद गाड़ियों के परखच्चे उड़ गए. 

बता दें कि रूस इन हमलों में कैलिबर क्रूज मिसाइल का इस्तेमाल कर रहा है. ये वो मिसाइले हैं जिसे जल, थल, आकाश कहीं से भी लॉन्च किया जा सकता है. 1500 से 2500 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली इस मिसाइल को अमेरिका की टॉम हॉक क्रूज मिसाइल से भी ज्यादा खतरनाक माना जाता है. वही टॉमहॉक क्रूज मिसाइल जिसने 1991 के खाड़ी युद्ध और अफगानिस्ता वॉर के दौरान जंग का रूख बदल दिया था. 

अब रूस भी इसी तरह की कैलिबर क्रूज मिसाइल से यूक्रेन पर हमले कर रहा है. कैलिबर क्रूज मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत ये है कि ये लॉन्च होने के बाद सतह के बेहद करीब रहकर अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ता है. इस वजह से कैलिबर को रडार पर पकड़ना बेहद मुश्किल होता है. इस मिसाइल में ऐसी गाइडेंस सिस्टम लगी है जो इसे पिन प्वाइंट एक्यूरेसी के साथ लक्ष्य के भेजने की क्षमता देता है. 

ये भी पढ़ें:

Russia Ukraine War: यूक्रेन के खारकीव में गोलाबारी में एक भारतीय छात्र की मौत

Russia Ukraine War: रोमानिया की भारत से अपील, ‘यूएन में वोटिंग न करने के अपने रुख पर विचार करे भारत’

Leave a Comment

Your email address will not be published.