Russia ukraine war 17 person trapped in ukraine returned to jharkhand on tuesday evening nodmk8

रांची. रुस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में वहां फंसे भारतीय नागरिकों और छात्रों को ऑपरेशन गंगा (Operation Ganga) के तहत लगातार स्वदेश लाया जा रहा है. इस क्रम में मंगलवार की देर शाम केंद्र सरकार और झारखंड सरकार (Jharkhand Government) के प्रयास से यूक्रेन (Ukraine Crisis) में फंसे 17 लोग झारखंड पहुंचे. इनमें से चार छात्राएं और एक छात्र रांची के बिरसा मुंडा हवाई अड्डा (Ranchi Airport) पहुंचे. रांची पहुंचने पर इन छात्रों ने कहा कि उन्होंने यहां पहुंचने के बाद राहत की सांस ली है, और वो उस भयानक अनुभव को याद भी नहीं करना चाहते जो उन्हें पिछले कुछ दिनों में हुआ है.

मंगलवार को यूक्रेन से भारत आने के बाद रांची पहुंचने वाले स्टूडेंट्स के नाम अंकित कुमार, तृषा राणा, हाफीजा शम्सी, प्रिया प्रियंका और अमन तेजस्विनी है. इनमें से दो रांची जबकि एक-एक छात्र बोकारो, रामगढ़ और जमशेदपुर के हैं. उन्होंने कहा कि यूक्रेन में हालात बहुत गंभीर हैं और वो वहां लगातार हो रही बमबारी और गोलियां चलने का अनुभव बयां नहीं कर सकते.

अपनी परेशानी बताते हुए मेडिकल के द्वितीय वर्ष के एक छात्र ने कहा कि यूक्रेन में सभी जगह तनाव और डर है. किसी से कोई मदद न मिलने के बाद मैं एक एजेंट की मदद से यूक्रेन के साथ लगती रोमानिया सीमा पर पहुंचा. इस दौरान हमें पुलिसकर्मियों की लाठियां भी खानी पड़ीं. हालांकि, हमें वहां भारतीय दूतावास से मदद मिली और किसी तरह भारत पहुंच गए.

रांची हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद एक छात्रा अपनी मां से गले लगकर रो पड़ी. उसने कहा कि हमें वहां जो असहनीय अनुभव हुआ और जो दर्द हमने सहा है, मैं उसे याद नहीं करना चाहती.

बता दें कि राज्य सरकार के द्वारा संचालित कंट्रोल रूम से प्राप्त जानकारी के अनुसार, यूक्रेन में फंसे झारखंड के लोगों से लगातार संपर्क स्थापित कर उनकी सुरक्षित वापसी सुनिश्चित की जा रही है. साथ ही केंद्र सरकार से लोगों को वापस लाने के लिए भी जानकारी साझा की जा रही है. (भाषा से इनपुट)

आपके शहर से (रांची)

  • थर्ड-फोर्थ ग्रेड की नौकरी में मैट्रिक-इंटर का विवाद, MLA कह रहे- मारा जाएगा झारखंडियों का अधिकार

    थर्ड-फोर्थ ग्रेड की नौकरी में मैट्रिक-इंटर का विवाद, MLA कह रहे- मारा जाएगा झारखंडियों का अधिकार

  • Russia-Ukraine War: यूक्रेन से निकल कर सुरक्षित झारखंड पहुंचे 17 लोग, बताये युद्ध के डरावने अनुभव

    Russia-Ukraine War: यूक्रेन से निकल कर सुरक्षित झारखंड पहुंचे 17 लोग, बताये युद्ध के डरावने अनुभव

  • आइए चलें, बोकारो के गोमुख का दर्शन करने, सालों भर जहां से निकलती रहती है मीठी जलधारा

    आइए चलें, बोकारो के गोमुख का दर्शन करने, सालों भर जहां से निकलती रहती है मीठी जलधारा

  • गढ़वा डीसी ने खुद के तबादले के अंतिम दिन 16 कर्मचारियों को कर दिया बर्खास्त, जानें पूरा मामला

    गढ़वा डीसी ने खुद के तबादले के अंतिम दिन 16 कर्मचारियों को कर दिया बर्खास्त, जानें पूरा मामला

  • पति के जेल जाते ही पत्नी की हो गई मौज, यार के साथ हुई फरार तो हो गया बड़ा कांड

    पति के जेल जाते ही पत्नी की हो गई मौज, यार के साथ हुई फरार तो हो गया बड़ा कांड

  • Lohardaga: एक किमी का एरिया तबाह हो सकता था नक्सलियों के पास से बरामद विस्फोटक से

    Lohardaga: एक किमी का एरिया तबाह हो सकता था नक्सलियों के पास से बरामद विस्फोटक से

  • झारखंड के दो कुख्यात नक्सलियों ने किया सरेंडर, कहा- संगठन में होता है बहुत शोषण

    झारखंड के दो कुख्यात नक्सलियों ने किया सरेंडर, कहा- संगठन में होता है बहुत शोषण

  • Jharkhand Budget : जानें इस बार के बजट में गरीबों, किसानों, महिलाओं और नौजवान के लिए क्या होगा खास?

    Jharkhand Budget : जानें इस बार के बजट में गरीबों, किसानों, महिलाओं और नौजवान के लिए क्या होगा खास?

  • OMG: मां को ही साली बना बैठा बेटा, पिता बने साढ़ू, पढ़ें रिश्तों की उलझी कहानी

    OMG: मां को ही साली बना बैठा बेटा, पिता बने साढ़ू, पढ़ें रिश्तों की उलझी कहानी

  • Jharkhand Budget: चैंबर ऑफ कॉमर्स को उम्मीद, बजट में रोजगार पर फोकस करेगी सरकार

    Jharkhand Budget: चैंबर ऑफ कॉमर्स को उम्मीद, बजट में रोजगार पर फोकस करेगी सरकार

  • जमींदोज हो रहा करोड़ों वर्ष पुराना चट्टानी इतिहास,1500 साल पुराने खुदे अक्षरों की भी नहीं कोई कद्र

    जमींदोज हो रहा करोड़ों वर्ष पुराना चट्टानी इतिहास,1500 साल पुराने खुदे अक्षरों की भी नहीं कोई कद्र

Tags: Jharkhand news, Ranchi news, Russia ukraine war, Ukraine

Leave a Comment

Your email address will not be published.