Russia Ukraine News PM Narendra Modi big decision amid Russia Ukraine war, Indian Air Force mission ganga rescue operation| रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच पीएम मोदी का बड़ा फैसला, भारतीय वायुसेना को दिया य

Narendra Modi, PM, India- India TV Hindi
Image Source : PTI
Narendra Modi, PM, India

Highlights

  • पीएम मोदी ने वायुसेना को मोर्चे पर जुट जाने को कहा
  • वायुसेना कई सी-17 विमान कर सकती है तैनात

नयी दिल्ली: यूक्रेन के खिलाफ रूस की आक्रामक सैन्य कार्रवाई के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वी यूरोपीय देश में फंसे भारतीयों को वहां से सुरक्षित निकालने के लिए वायुसेना को मोर्चे पर जुट जाने को कहा है। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारतीय वायुसेना, यूक्रन में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए चलाए जा रहे ‘‘आपरेशन गंगा’’ नामक इस अभियान के तहत, कई सी-17 विमान तैनात कर सकती है। 

गौरतलब है कि 24 फरवरी को रूस द्वारा हमला करने के बाद यूक्रेन का हवाई क्षेत्र बंद होने के कारण भारत वहां फंसे अपने नागरिकों को रोमानिया, हंगरी, पोलैंड और स्लोवाकिया से लगी उसकी (यू्क्रेन की) सीमा चौकियों के जरिए वहां से बाहर निकाल रहा है। यूक्रेन से भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार की ओर से ‘‘ऑपरेशन गंगा’’ चलाया जा रहा है। सूत्रों ने बताया कि निकासी अभियान में तेजी लाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय वायुसेना से इस अभियान का हिस्सा बनने को कहा है। 

यूक्रेन को दी जाएगी मानवीय सहायता

संकट के मद्देनजर लोगों को निकालने के साथ-साथ, भारतीय वायुसेना के विमान मानवीय सहायता संबंधी सामान पहुंचाने के लिए भी काम करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने चार केंद्रीय मंत्रियों को यूक्रेन के पड़ोसी देशों में पहुंच कर भारतीयों को सुरक्षित एवं सुगम तरीके से निकालने में समन्वय करने की जिम्मेदारी दी है। इसके तहत, केंद्रीय मंत्री वी के सिंह पोलैंड में, किरेन रिजिजू स्लोवाकिया में, हरदीप पुरी हंगरी में जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया रोमानिया और माल्डोवा में समन्वय करेंगे।

मुंबई लौटे 182 छात्र

यूक्रेन में फंसे 182 छात्रों को लेकर एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत मंगलवार सुबह मुंबई पहुंचा। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। एआईए की उड़ान आईएक्स-1202 बुखारेस्ट (रोमानिया) के हेनरी कोंडा हवाई अड्डे से यहां पहुंची, जिसमें महाराष्ट्र के लगभग 24 लोग शामिल थे। उनका स्वागत केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नारायण राणे ने किया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.