Retail investors can trade in US-based stocks on NSE IFSC from 3 March

नई दिल्ली. How Yo Buy American Shares From India : NSE IFSC को चुनिंदा अमेरिकी स्टॉक्स में ट्रेडिंग शुरू करने की परमिशन मिल गई है. NSE IFSC दरअसल NSE का इंटरनेशनल एक्सचेंज (NSE International Exchange) है. यह एनएसई की एक पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है. पिछले साल अगस्त में NSE International Exchange ने ऐलान किया था कि NSE IFSC प्लेटफॉर्म के जरिए चुनिंदा अमेरिकी स्टॉक में ट्रेडिंग की सुविधा दी जाएगी. निवेशक इस प्लेटफॉर्म के जरिए अमेरिकी स्टॉक खरीद सकेंगे और शेयरों के बदले डिपॉजिटरी रिसीट जारी कर सकेंगे.

इस प्लेटफॉर्म पर 50 स्टॉक्स के रिसीट की ट्रेडिंग की अनुमति मिली है. इनमें से आठ 3 मार्च से ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध होंगे. इन स्टॉक्स में Alphabet Inc (Google), Amazon Inc, Tesla Inc, Meta Platforms (Facebook), Microsoft corporation, Netflix, Apple और Walmart के नाम शामिल हैं. ये सभी अमेरिका के बड़े और नामी स्टॉक्स हैं.

तस्वीरों में – Upcoming IPO: LIC के अलावा मार्च में कौन-सी 6 कंपनियों ला सकती हैं IPO, जानिए

बाकी स्टॉक्स का क्या?

बाकी स्टॉक्स की ट्रेडिंग शुरू होने की तारीख के बारे एक अलग सर्कुलर के जरिए सूचित किया जाएगा. इस प्लेटफॉर्म पर US स्टॉक्स की ट्रेडिंग, क्लीयरिंग, सेटलमेंट और होल्डिंग की पूरी प्रक्रिया IFSC अथॉरिटी के रेगुलेटरी ढांचे के तहत पूरी होगी.

ये भी पढ़ें – Crypto: वैश्विक बाजार लाल, क्रिप्टो ग्रीन, LUNA ने हफ्तेभर में दिया 70% रिटर्न

भारतीय रिटेल निवेशक NSE IFSC के प्लेटफॉर्म के जरिए Liberalized Remittance Scheme (LRS) लिमिट के तहत कारोबार कर सकेंगे. बता दें कि LRS का प्रावधान आरबीआई ने किया है.

NSE IFSC के मुताबिक, इस प्लेटफॉर्म के जरिए अंतराष्ट्रीय निवेश काफी आसान हो जाएगा और इसकी लागत भी ज्यादा नहीं होगी. इस प्लेटफॉर्म पर निवेशकों को आंशिक क्वांटिटी (Fractional Quantities) में भी निवेश की सुविधा होगी.

Tags: NSE, Stock Markets

Leave a Comment

Your email address will not be published.