Ashneer Grover Suspended From All Posts Of BharatPe, Company Says- He Is No Longer Employee And Founder | BharatPe ने अशनीर ग्रोवर को सभी पदों से बर्खास्त किया, कहा

BharatPe News: भारतपे ने अपने को-फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर अशनीर ग्रोवर को कंपनी में सभी पदों से हटा दिया है. कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक के बाद जारी बयान में इस बात की जानकारी दी गई. हालांकि अशनीर ग्रोवर के इस्तीफा देने की खबरें कल ही सामने आ गई थीं लेकिन अशनीर ग्रोवर के इस्तीफे पर कंपनी की ओर से कुछ नहीं कहा गया है. 

भारतपे ने की कानूनी कार्रवाई के अधिकार की बात
भारतपे ने कहा कि उसे ग्रोवर, उनके परिवार के खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई का अधिकार है. भारतपे ने आरोप लगाया कि सह-संस्थापक अशनीर ग्रोवर के परिवार और उनके संबंधियों ने कंपनी के कोष का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग किया था. 

हाल ही में आया था ग्रोवर का इस्तीफा
हाल ही में फिनटेक यूनिकॉर्न भारतपे के सह-संस्थापक अशनीर ग्रोवर ने कंपनी बोर्ड में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. अशनीर ग्रोवर के खिलाफ सिंगापुर में जांच शुरू करने के लिए फिनटेक प्लेटफॉर्म के खिलाफ दायर की गई मध्यस्थता में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. इस हार के बाद अशनीर का इस्तीफा सामने आ गया. 

अशनीर ग्रोवर के ई-मेल की जानकारी आई थी सामने
खबर सामने आई थी कि फिनटेक यूनिकॉर्न के बोर्ड को भेजे गए एक ईमेल में अपने इस्तीफे में  अशनीर ग्रोवर ने कहा कि उन्हें ‘बदनाम’ किया गया और ‘सबसे अपमानजनक तरीके’ से व्यवहार किया गया. उन्होंने मेल में लिखा, ‘मैं इस बात से बेहद दुखी हूं, जिस कंपनी का मैं संस्थापक हूं आज मुझे उस कंपनी को अलविदा कहने के लिए मजबूर किया जा रहा है.’

लंबे समय से चल रहा है विवाद
इससे पहले भारतपे ने अपने ‘कंट्रोल्स’ विभाग की प्रमुख और अशनीर ग्रोवर की पत्नी माधुरी जैन ग्रोवर को वित्तीय अनियमितताओं के आरोप में बर्खास्त कर दिया था. भारतपे में माधुरी जैन नियंत्रण प्रमुख थीं. आंतरिक जांच में फिनटेक प्लेटफॉर्म पर उनके समय के दौरान धन की हेराफेरी का पता चला था. अशनीर ग्रोवर ने कोटक महिंद्रा बैंक के कर्मचारियों के खिलाफ कथित रूप से अनुचित भाषा का इस्तेमाल करने के लिए विवाद का सामना करने के बाद, मार्च के अंत तक स्वैच्छिक अवकाश ले लिया था, उनकी पत्नी माधुरी जैन भी जनवरी में छुट्टी पर चली गईं थी.

ये भी पढ़ें

रूस-यूक्रेन युद्ध से भारत को नुकसान, आयात बिल बढ़कर 600 अरब डॉलर होने की आशंका-रिपोर्ट

देश में डिजिटल पेमेंट ट्रांजेक्शन घटे, फरवरी में UPI के जरिए 8.27 लाख करोड़ रुपये का लेनदेन

Leave a Comment

Your email address will not be published.