Russia ukraine war second round of talks aimed putin gives 3 condition to zelenskyy

कीव. रूस और यूक्रेन (Russia-Ukraine War) के बीच चल रही जंग का मंगलवार को छठा दिन है. जंग को रोकने के लिए दोनों मुल्कों के बीच बेलारूस (Belarus) में सोमवार को मीटिंग हुई. 3:30 घंटे तक चली मीटिंग में दोनों देश एकमत नहीं हो पाए और मीटिंग खत्म हो गई. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडमिर जेलेंस्की ने यूरोपीय यूनियन की सदस्यता के लिए साइन कर दिए हैं. वहीं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के साथ समझौते के लिए 3 शर्तें रखी हैं. दूसरे दौर की वार्ता पोलैंड बेलारूस के बॉर्डर पर होगी.

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन (Vladimir Putin) ने अपने फ्रांसीसी समकक्ष इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) से फोन पर बात की. पुतिन ने इस दौरान 3 शर्तें रखी हैं. उन्होंने कहा कि यूक्रेन के साथ समझौता तभी संभव है, जब रूस के वैध सुरक्षा हितों को बिना शर्त माना जाए. इसमें क्रीमिया पर रूसी संप्रभुता की मान्यता, यूक्रेन का विसैन्यीकरण और विमुद्रीकरण और यूक्रेन की तटस्थ स्थिति सुनिश्चित करना भी शामिल है.

रूस और यूक्रेन युद्ध को लेकर क्यों फूंक-फूंककर कदम उठा रहा है भारत? ये रहे 5 बड़े कारण

रूसी पक्ष यूक्रेन के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के लिए खुला है

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मैक्रों से फोन पर बातचीत के दौरान कहा कि रूसी पक्ष यूक्रेन के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के लिए खुला है और उम्मीद है कि इन वार्ताओं से वांछित परिणाम मिलेंगे. मैक्रों के साथ बातचीत में पुतिन ने जोर देकर कहा कि एक समझौता तभी संभव है जब रूस के वैध सुरक्षा हितों को बिना शर्त ध्यान में रखा जाए, जिसमें क्रीमिया पर रूसी संप्रभुता की मान्यता, यूक्रेनी राज्य का विसैन्यीकरण और नाजी विचारधारा से मुक्ति व इसकी तटस्थ स्थिति सुनिश्चित करना शामिल है.

रूस के प्रतिनिधिमंडल में शामिल हैं ये लोग

क्रेमलिन (Kremlin) के प्रेस सचिव दिमित्री पेस्कोव ने कहा कि मॉस्को ने कीव के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत से पहले अपनी स्थिति की घोषणा नहीं की, क्योंकि चर्चा चुपचाप चलनी चाहिए. अभी तक रूस की तरफ से ये नहीं बताया गया है कि वह किस मुद्दे पर चर्चा करने वाला है. रूस के प्रतिनिधिमंडल में मिन्स्क में मॉस्को के राजदूत, रूस के उप रक्षा मंत्री, एक वरिष्ठ सांसद और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के सहयोगी व्लादिमीर मेडिंस्की शामिल हैं. मेडिंस्की ने कहा कि हम निश्चित रूप से जल्द से जल्द कुछ समझौतों पर पहुंचने में रुचि रखते हैं. इस बातचीत के जरिए ये उम्मीद लगाई जा रही है कि युद्ध की समाप्ति हो सकती है.

Ukraine-Russia War: कीव की तरफ बढ़ रहा रूसी सेना का 64 KM लंबा काफिला, सैटेलाइट तस्वीरों से हुआ खुलासा

जेलेंस्की ने EU की सदस्यता आवेदन पर हस्ताक्षर किए

इधर, बेलारूस में हुई बातचीत का कोई ठोस समाधान नहीं निकलने पर राष्ट्रपति जेलेंस्की ने EU की सदस्यता आवेदन पर हस्ताक्षर किए. साथ ही उन्होंने कहा कि ये यूक्रेनी लोगों की पसंद है. इससे पहले, यूक्रेन (Ukraine) ने तुरंत सीजफायर लागू करने और रूसी सैनिकों को अपनी जमीन से जाने की मांग की थी.अभी तक इस जंग में रूस और यूक्रेन दोनों ही को बड़ा नुकसान हुआ है. बड़ी संख्या में लोगों ने देश छोड़कर पड़ोसी मुल्कों में शरण ली है.

Tags: Russia, Russia ukraine war, Vladimir Putin

Leave a Comment

Your email address will not be published.