personal loan: Personal Loan Interest Rates, Personal Loan for Stock Market, Personal Loan for Repay Debt: शेयर बाजार में निवेश करने और कर्ज चुकाने के लिए कभी ना लें पर्सनल लोन

नई दिल्ली: वेतनभोगी कर्मचारियों के पास अक्सर बैंक (Banks) से पर्सनल लोन (Personal Loan) के लिए फोन आते रहते हैं। आरबीआई (RBI) द्वारा रेपो रेट (Repo Rate) को कम रखने के चलते कई बैंक 10 से 15 फीसद की ब्याज दर (Personal Loan Interest Rates) पर भी ग्राहकों से पर्सनल लोन की पेशकश करते हैं। अच्छा वेतन पाने वाले कर्मचारियों से प्री-अप्रूव्ड लोन (Pre Approved Loan) की भी पेशकश की जाती है। कई बार लोग गैर-जरूरी काम के लिए या अपने शौक पूरे करने के लिए पर्सनल लोन ले लेते हैं। ऐसे लोग बाद में मुसीबत में फंस जाते हैं। ध्यान रखें कि पर्सनल लोन पर बैंक अपेक्षाकृत काफी अधिक ब्याज दर रखते हैं। इसलिए कोई अन्य विकल्प नहीं बचा हो, तब ही हमें पर्सनल लोन लेना चाहिए।

मुफ्त की रकम नहीं है पर्सनल लोन
सर्टिफाइड फाइनेंनशियल प्लानर जितेंद्र सोलंकी कहते हैं कि पर्सनल लोन एक अनसिक्योर्ड लोन है। इसलिए यह सबसे महंगा लोन होता है। कई परिस्थितियों में पर्सनल लोन की ब्याज दर बीस फीसदी से भी ऊपर होती है। ऐसे में गैर जरूरी कामों के लिए पर्सनल लोन लेना किसी भी सूरत में समझदारी का फैसला नहीं है। कृपया ध्यान दें कि यह मुफ्त की रकम नहीं है। इस पर आपको मोटा ब्याज चुकाना होगा। आज हम आपको बताएंगे कि किन कार्यों के लिए ग्राहकों को पर्सनल लोन लेने से बचना चाहिए।

शेयर बाजार में निवेश के लिए ना लें पर्सनल लोन

कुछ लोग शेयर बाजार की तेजी में मुनाफे का गोता लगाने के लिए पर्सनल लोन ले डालते हैं। फटाफट मुनाफा कूटने की सोचकर पर्सनल लोन लेना आप पर भारी पड़ सकता है। शेयर बाजार में निवेश काफी जोखिम भरा होता है। यह अत्यधिक अस्थिरता वाला निवेश विकल्प है। शेयर बाजार में निवेश के लिए पर्सनल लोन लेकर आप अपने जोखिम को कई गुना बढ़ा देते हैं। पर्सनल लोन में आपको हर महीने किस्त चुकानी होती है। अगर आपका पैसा शेयर बाजार में फंस गया और आपके पास आय का कोई नियमित स्रोत नहीं रहा, तो आप बुरे फंस सकते हैं। इसिलए शेयर बाजार में निवेश के लिए पर्सनल लोन लेने से बचना चाहिए।

शौक पूरे करने के लिए न लें कर्ज

आपका बैंक आपको आसानी से पर्सनल लोन दे रहा है या आपके पास प्री-अप्रूव्ड ऑफर है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने शौक पूरे करने के लिए पर्सनल लोन ले लें। कुछ लोग महंगा मोबाइल खरीदने या फिर कहीं घूमने जाने के लिए भी पर्सनल लोन ले लेते हैं। ये ऐसे काम हैं, जो आपकी जरूरत नहीं, बल्कि शौक हैं। इनके लिए पर्सनल लोन लेने से परहेज करें, क्योंकि पर्सनल लोन पर आपको भारी ब्याज चुकाना होता है।

भारत में जल्द महंगे हो सकते हैं सभी तरह के Loans, Share Market और महंगाई पर भी पड़ेगा बुरा असर
कर्ज उतारने के लिए न ले कर्ज

पर्सनल लोन महंगा कर्ज है। ऐसे में इसे लेकर कोई कर्ज न उतारें। कई बार लोग क्रेडिट कार्ड का पेमेंट करने के लिए पर्सनल लोन ले लेते हैं। जब नियमित वेतन मिल रहा हो, तो हर किसी को लगता है कि वह आसानी से पर्सनल लोन की किस्त चुका देगा। लेकिन यह आसान नहीं होता। हो सकता है कि आप कर्ज के जाल में फंस जाएं।

सही काम के लिए सही लोन का चुनाव
कई लोग प्रॉपर्टी का डाउन पेमेंट करने, कार खरीदने या एजुकेशन के लिए पर्सनल लोन ले लेते हैं। ऐसा कभी ना करें। पर्सनल लोन में इन जरूरतों के मुताबिक फीचर्स नहीं होते हैं और ब्याज दर भी अधिक होती है। एजुकेशन के लिए आप एजुकेशन लोन (Education Loan) ले सकते हैं और कार खरीदने के लिए कार लोन (Car Loan)। इसलिए सही काम के लिए सही लोन का चुनाव करें।

नई Maruti Baleno का करें इंतजार या खरीदें Hyundai i20, Tata Altroz जैसी कार

ऊंची ब्याज दर से बचें
पर्सनल लोन पर ब्याज दर अन्य लोन की तुलना में अधिक होती है। जिन ग्राहकों का क्रेडिट स्कोर (Credit Score) कम है, उनके लिए ब्याज दर और अधिक हो सकती है। बेहतर है कि आप पहले अपना क्रेडिट स्कोर मजबूत करें। इसके लिए आप क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। जब आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा हो जाएगा तो आपको कम ब्याज दर पर पर्सनल लोन मिल जाएगा।

कारोबार जगत के 20 से अधिक सेक्टर से जुड़े बेहतरीन आर्टिकल और उद्योग से जुड़ी गहन जानकारी के लिए आप इकनॉमिक टाइम्स की स्टोरीज पढ़ सकते हैं। इकनॉमिक टाइम्स की ज्ञानवर्धक जानकारी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.