Mohammed shami said trollers not real fans nor real indians – मोहम्‍मद शमी ने कहा

नई दिल्‍ली. भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्‍मद शमी (Mohammed Shami ) को पाकिस्‍तान (Pakistan) के खिलाफ टी20 वर्ल्‍ड कप में मिली हार के बाद जमकर ट्रोल किया गया था. भारतीय गेंदबाज ने अब ट्रोलर्स की बोलती बंद कर दी. शमी ने कहा कि जो ट्रोल करते हैं वो असली फैंस नहीं है और न ही असली भारतीय हैं. मुझे पता है कि मैं किसका प्रतिनिधित्‍व करता हूं. शमी ने कहा कि मैं अपने देश के लिए लड़ता हूं.

टी20 वर्ल्‍ड कप में भारत के निराशजनक प्रदर्शन पर शमी ने इंडियन एक्‍सप्रेस से बात करते हुए कहा कि बड़ी उम्‍मीदें थी, मगर हम भी इंसान हैं. गलतियां हो सकती है. टी20 वर्ल्‍ड कप के दौरान शमी काफी ट्रोल हुए थे. ऐसे समय में विराट कोहली शमी उनके समर्थन में खड़े हुए और ट्रोलर्स को जवाब दिया.

ट्रोलर्स के कमेंट पर आहत नहीं होना चाहिए
शमी ने इस पर कहा कि इस तरह की सोच का कोई इलाज नहीं हैं. (धर्म) ट्रोल करने वाले न तो असली प्रशंसक हैं और न ही असली भारतीय. यदि आप किसी खिलाड़ी को हीरो मानते हैं और फिर इस तरह का व्‍यवहार करते हैं तो आप भारतीय समर्थक नहीं हैं. शमी ने कहा कि मुझे लगता है कि ऐसे लोगों के कमेंट से किसी को आहत नहीं होना चाहिए. शमी ने कहा कि मेरे दिमाग में एक ही बात चल रही थी. यदि मैं किसी को अपना आदर्श मानता हूं तो मैं उस व्‍यक्ति के बारे में कभी भी बुरा नहीं बोलूंगा और अगर कोई मुझे आहत करने वाली बात कह रहा है तो वो मेरा और भारतीय टीम का समर्थन नहीं हो सकता. इसीलिए मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वो क्‍या कर रहा है.

किसी को साबित करने की जरूरत नहीं
शमी ने कहा कि यह लोगों की मानसिकता है. यह उनके निम्‍न स्‍तर की शिक्षा को दिखाता है. उन्‍होंने कहा कि अनजान सोशल मीडिया प्रोफाइल वाले लोग या फिर कुछ फॉलोअर्स वाले किसी पर उंगली उठाते हैं तो उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं होता, लेकिन अगर हम उन्‍हें एक रोल मॉडल, एक सेलिब्रिटी, भारतीय क्रिकेटर के रूप में प्रतिक्रिया देते हैं तो हम उन्हें अनुचित अहमियत दे देते हैं. हमें उनके साथ जुड़ने की जरूरत नहीं हैं.

Team India ने 12 दिन में जीती 2 सीरीज, 6 टी20 मैच खेले, ये 5 खिलाड़ी रहे हीरो

भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा कि हम जानते हैं कि हम क्‍या हैं. हमें यह कहने की जरूरत नहीं है कि भारत हमारे लिए क्‍या मायने रखता है, क्‍योंकि हम देश का प्रतिनिधित्‍व करते हैं. हम अपने देश के लिए लड़ते हैं. इसीलिए हमें इस तरह के ट्रोलर्स को जवाब देकर या प्रतिक्रिया देकर कुछ भी साबित करने की जरूरत नहीं है.

IND vs SL: जीत के बाद रोहित शर्मा का खिलाड़ियों को खास मैसेज- टीम में अपनी पॉजिशन के बारे में चिंता ना करें

खेल के बारे में ज्‍यादा नहीं थी जानकारी 
उन्‍होंने अपने सफर पर भी खुलकर बात की. जब वो छोटे थे तो उनके पिता ने न सिर्फ उनके लिए, बल्कि गांव के लिए पिच तैयार की थी. शमी ने उस दिनों को याद करते हुए कहा कि उस समय कुछ संघर्ष था और किसी को भी नहीं पता था कि कौन कहां जाएगा. उन्‍होंने कहा कि टीवी पर हमने जितना देखा, उसके अलावा खेल के बारे में ज्‍यादा कुछ नहीं पता था. मेरे पिता मिलनसार व्‍यक्ति हैं और दूसरों की मदद करते हैं. हमारा परिवार राजनीति से जुड़ा हुआ है. इसीलिए लोग आते जाते रहते हैं. भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा कि जब हमने उस इलाके में कंक्रीट की पिच बनवाई तो वहां सरकारी स्‍कूल के अलावा कोई सार्वजनिक सुविधा नहीं थी. इसके बाद स्‍थानीय बच्‍चे आने लगे. हमने ग्रुप बनाए और एक दूसरे खिलाफ खेले.

Tags: Indian cricket, Mohammad Shami

Leave a Comment

Your email address will not be published.