How To Use Salt In Your Daily Diet For Best Health Results

नमक हमारे भोजन का एक अभिन्न अंग है. खासतौर पर भारत में तो हम सोच ही नहीं सकते कि बिना नमक के किसी तरह का भोजन भी बन सकता है. यहां तक कि व्रत और उपवास में भी शरीर के अंदर सॉल्ट की पूर्ति के लिए हम सेंधा नमक या पिंक सॉल्ट का उपयोग करते हैं. लेकिन नमक के बारे में कुछ दिलचस्प बातें आपको जरूर पता होनी चाहिए. क्योंकि आपकी सेहत से इनका सीधा संबंध है… 

  • आपके तीनों समय के भोजन में नमक जरूर होना चाहिए. यह नमकीन एक ऐसा स्वाद है, जो आपके तीनों समय के भोजन को सुपाच्य और गुणकारी बनाता है.
  • नमक सिर्फ आपके भोजन को टेस्टी नहीं बनाता बल्कि इसे पचाने में भी मदद करता है. नमक एक ऐसा टेस्ट देता है, जो दूसरे हर टेस्ट पर हावी हो जाता है!
  • नमक का सेवन डायजेशन को बेहतर बनाने में मदद करता है. यदि आपको कभी भी पाचन संबंधी कोई समस्या होती है तो अपने भोजन में नमक की मात्रा जरूर चेक करें. यह कम खाना भी हानि पहुंचाता है और इसका अधिक सेवन भी हानिकारक होता है.
  • सिर्फ पाचन ही नहीं बीपी यानी ब्लड प्रेशर की समस्या भी आमतौर पर नमक के सेवन से जुड़ी होती है. जो लोग अधिक मात्रा में नमक खाते हैं, उनका बीपी हाई रहने लगता है और जो लोग कम मात्रा में नमक खाते हैं, उन्हें लो बीपी की शिकायत हो जाती है.

जल्दी बुढ़ापा ला सकता है नमक

  • अधिक मात्रा में नमक का सेवन आपको जल्दी बूढ़ा बना सकता है. क्योंकि अधिक नमक आपकी आंखों की सेहत को नुकसान पहुंचता है.
  • अधिक मात्रा में नमक खाने पर ब्लड की क्वालिटी घट जाती है, जिससे शरीर पर अर्ली एजिंग (Early Ageing)के निशान दिखने लगते हैं.
  • जो लोग बहुत अधिक नमक खाते हैं, उनके बाल जल्दी गिरने लगते हैं. बालों में सफेदी और त्वचा पर झाइयां जल्दी आ जाती हैं.

इन स्थितियों में खाएं कम नमक

  • अगर आपको गैस्ट्रो से जुड़ी समस्याएं हैं तो आपको नमक का उपयोग बहुत संतुलित मात्रा में करना चाहिए. इसे कम या ज्यादा खाना हानिकारक हो सकता है.
  • हाइपरटेंशन या हाई बीपी की समस्या होने पर भी नमक की मात्रा को अपने भोजन में बहुत नाप-तोलकर शामिल करें.
  • जिन्हें शरीर में सूजन की शिकायत रहती है, उन लोगों को भी भोजन में नमक का सेवन संतुलित करना चाहिए.
  • हाई फीवर यानी बुखार बना रहने की स्थिति में भी अधिक नमक युक्त चीजों का सेवन शरीर को बहुत नुकसान पहुंचाता है.

ये होता है बेस्ट नमक

  • हिमालयन पिंक सॉल्ट या सेंधा नमक को सबसे अच्छा नमक माना जाता है. आयुर्वेदिक डॉक्टर्स दैनिक जीवन में इसी नमक का सेवन करने का  सुझाव देते हैं. 
  • आप सामान्य नमक और पिंक सॉल्ट दोनों को मिक्स करके अपने घर की रसोई में उपयोग कर सकते हैं. इससे आयोडीन की कमी भी नहीं होगी और आपको दोनों तरह के नमक का लाभ भी प्राप्त होगा. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें: हर घर में जरूर होनी चाहिए ये आयुर्वेदिक औषधियां, अंग्रेजी दवाओं का शानदार रिप्लेसमेंट
यह भी पढ़ें: स्वादिष्ट और गुणकारी होते हैं भगवान शिव को चढ़ाए जानेवाले चौलाई के लड्डू, इन्हें खाने से मिलते हैं गजब के फायदे

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Leave a Comment

Your email address will not be published.