क्या आपके पैरों पर भी दिखती हैं नीली नसें, जानिए कौन सी बीमारी है और क्या है वजह ?

<p>अगर आपके पैरों में नसें दिखती हैं या नीली नसें होने लगी हैं तो ये वेरिकोज वेन्स की समस्या की वजह से हो सकती है. इसमें &nbsp;शरीर के निचले हिस्से या पैरो में वो मुड़ी हुई नसें होती हैं जो सूजी हुई होती हैं. यह नसे धीरे-धीरे बैगनी और नीली होने लगती हैं. इसकी बड़ी वजह ज्यादा देर तक खड़े रहना या देर तक चलना होता है. इससे कई लोगों को नसों में दर्द, खींच या तकलीफ होती है वही दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें इससे कोई तकलीफ नहीं होती हैं. कई बार लोग इस समस्या को अनदेखा कर देते हैं. लेकिन ये नसें बाद में कई बार तकलीफ देती हैं. कई बार इससे शरीर में कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं. &nbsp;जानिये इन सूजी हुई नसों का वजह, लक्षण और इलाज क्या है?&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>वेरिकोज वेन्स की वजह</strong></p>
<p><strong>ज़्यादा देर तक खड़े रहना- </strong>यदि आप ज़्यादा देर तक खड़े रहते है तो आपके पैरों में सूजन आने लगती है. ऐसे में आपको थोड़ी- थोड़ी देर में आराम करते रहना चाहिए. इससे पैरो में सूजन नहीं आएगी और नसों को आराम मिलेगा.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>ज़्यादा वजन के कारण-</strong> ज़्यादा वजह होने के कारण आप जब भी खड़े रहते हैं, तब नसों पर दबाव पड़ता है जिसके कारण &nbsp;ब्लड़ फ्लो धीमा हो जाता है. ऐसे में वजन ज़्यादा होने के कारण भी नसें सूज जाती हैं.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>पैरो पर ज़्यादा जोर पड़ना-</strong> जब भी पैरों पर या शरीर के निचले हिस्से पर ज़्यादा जोर पड़ता हैं तो वहां खून जमने लगता है, जिसके कारण नसे सूझ जाती हैं. यह समस्या ज्यादातर हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा या प्रेगनेंसी में होती है.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>अनुवांशिक वजह से-</strong> कई बार लोगों को यह बीमारी अपने पूर्वजों के कारण भी होती हैं. यदि परिवार में किसी को वैरिकोज की समस्या है, तो ऐसा संभव हैं कि आपको भी हो सकती है.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>वेरिकोज वेन्स के लक्षण</strong></p>
<p><strong>नसों में दर्द और सूजन होना-</strong> यह ज्यादातर काफी समय खड़े रहने या काफी समय तक चलने के कारण होती है.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>पैरो में सूजन-</strong> जब ज्यादा वजन बढ़ता है तो इससे नसें दब जाती हैं, इससे धीरे-धीरे पैरों में सूजन आने लगती है.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>सूखी त्वचा का होना-</strong> जब चेहरा सूखने लगता है तो ध्यान रखिये की आप डॉक्टर से कंसल्ट करें.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>रात में पैरो में दर्द होना-</strong> कई बार आपने महसूस किया होगा कि जब आप रात में सोने जाते हैं तो एकदम से पैरो में दर्द शरू हो जाता है. यह वेरिकोज वेन्स का ही एक लक्षण हैं.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>नसों के आसपास त्वचा का रंग बदलना- </strong>कई बार आपने देखा होगा जब नसें नीली या बैंगनी सी होने लगती हैं. यह खून जाम होने की वजह से होता है. इससे वेरिकोज वेन्स की परेशानी हो सकती हैं.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>वेरिकोज नसों का इलाज</strong></p>
<p><strong>व्यायाम करें-</strong> व्यायाम करने से आपका वजन सही रहेगा जिससे आपके पैरो पर दबाव नहीं पड़ेगा. पैरो पर दबाव न पड़ने से ब्लड़ फ्लो भी सही रहेगा और आपको किसी तकलीफ का सामना नहीं करना पड़ेगा.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>ज्याद देर तक खड़े न रहें-</strong> ज्यादा देर तक खड़े रहने से ब्लड़ फ्लो धीमा हो जाता है और धीरे धीरे पैरो में सूजन आने लगता है. इसलिए ज्यादा देर तक खड़े न रहें.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>टाइट कपडे न पहने-</strong> टाइट कपड़े पहनने से नसें दबने लगती हैं फिर नसों में सूजन आ जाती है. इससे नसों का रंग बदलने लगता है. आप कोशिश करें ज्यादा टाइट कपडे न पहनें.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>हील्स न पहने-</strong> आपने अक्सर यह महसूस किया होगा कि जब भी आप हील्स पहनते हैं तो पैरो में सूजन आ जाती है. इसलिए हील्स न पहने ताकि आपके पैरों में सूजन न आएं.&nbsp;<br />&nbsp;<br /><strong>कम्प्रेशन मौजो का इस्तेमाल करें-</strong> कम्प्रेशन मौजे पहनने से ब्लड़ फ्लो सही रहता है, पैरो की सूजन कम हो जाती है. नसों से जुडी बीमारियों में सुधार आता है और ब्लड क्लॉट से बचाता है. पैरों की परेशानी होने पर कम्प्रेशन मौजों का इस्तेमाल करें.&nbsp;</p>

Leave a Comment

Your email address will not be published.