इन रोगों में ना खाएं अधिक साबूदाना, गंभीर हो सकती है आपकी बीमारी – News18 हिंदी

Side Effects of Sabudana: साबूदाने (Tapioca pearls) का इस्तेमाल ज्यादातर लोग व्रत-उपवास में करते हैं. हालांकि, इससे कई हेल्दी व्यंजन जैसे साबुदाने की खिचड़ी, खीर, पकौड़े, साबूदाना वड़ा आदि बनाकर आप नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं, क्योंकि यह सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. सफेद छोटे-छोटे गोल मोतियों जैसे दाने वाला साबूदाना (Sabudana) छोटे और बड़े आकार में मार्केट में बहुत आसानी से मिल जाता है. इसमें मौजूद पोषक तत्वों की बात करें तो यह प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फाइबर, ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेड, जिंक, फॉस्फोरस, पोटैशियम आदि से भरपूर होता है. साबूदाना (Sago benefits) खाने के अनगिनत सेहत लाभ होते हैं. यह डायरिया, एनीमिया को दूर करता है, हार्ट हेल्दी रखता है. प्रेग्नेंट महिलाओं में आयरन की कमी, हार्मोनल इंबैलेंस को दूर करता है. हड्डियों को मजबूती देता है, शरीर को एनर्जी देता है. बालों और त्वचा संबंधित कई समस्याओं को सही करता है, लेकिन इसके अधिक सेवन से कुछ लोगों को नुकसान (Side Effects of eating Sabudana) भी हो सकता है. ऐसे में व्रत या सामान्य दिनों में इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें.

किन रोगों में नहीं करना चाहिए साबूदाने का सेवन

वजन अधिक होने पर

यदि आपका वजन अधिक है और आप इसे कम करने के लिए वेट लॉस डाइट (Weight Loss Diet) फॉलो कर रहे हैं, तो साबूदाना का सेवन ना करें. साबूदाने में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है, जो वजन कम करने की बजाय बढ़ा सकता है. मोटापा बढ़ने से आपको कई अन्य शारीरिक समस्याएं जैसे डायबिटीज, हार्ट डिजीज, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल आदि हो सकती हैं.

इसे भी पढ़ें: पेड़ के गूदे से बनता है व्रत में इस्तेमाल होने वाला साबूदाना, जानें इसे बनाने की प्रक्रिया और गुण

डायबिटीज में ना खाएं अधिक साबूदाना

यदि आपको डायबिटीज की समस्या है और शुगर लेवल हाई रहता है, तो साबूदाना ना खाएं. इससे शुगर लेवल और अधिक बढ़ जाएगा. चूंकि, इसमें कार्बोहाइड्रेट अधिक होता है, जो रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा देता है. यह एक स्टार्च से भरपूर फूड है, इसलिए भी डायबिटीज रोगियों को स्टार्ची फूड्स जैसे व्हाइट चावल, आलू, साबूदाना खाने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लेना चाहिए. इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्ट भी अधिक होता है, जो शुगर लेवल को हाई कर सकता है.

प्रोटीन की कमी में ना खाएं साबूदाना

यदि आपके शरीर में पहले से ही प्रोटीन की कमी है, तो साबूदाना नहीं खाना चाहिए. साबूदाने में प्रोटीन की मात्रा अधिक नहीं होती है, इसलिए इसे खाकर प्रोटीन की कमी को दूर नहीं किया जा सकता है. अधिक खाएंगे तो आपकी सेहत को ही उल्टा नुकसान पहुंचेगा.

इसे भी पढ़ें:साबूदाने और केले का हेयर मास्क बालों की हर समस्या को ऐसे करेगा दूर

किडनी डिजीज में ना खाएं साबूदाना

यदि आपकी किडनी में कोई भी समस्या है जैसे किडनी में स्टोन (Kidney stone) है, तो साबूदाना कम ही खाएं. इस फूड में कैल्शियम अधिक होता है, जो किडनी में पथरी, अन्य समस्याओं को बढ़ा सकता है.

होती हैं पाचन संबंधित समस्याएं 

यदि आप प्रतिदिन साबूदाना का सेवन करते हैं, तो आपको पाचन संबंधित समस्याएं जैसे ब्लोटिंग, कब्ज हो सकती है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Leave a Comment

Your email address will not be published.